Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

वरीयता रोगों की वार्षिक समीक्षा, 2018

May 21st, 2018
Annual review of preference diseases, 2018
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 6-7 फरवरी, 2018 के मध्य जेनेवा, स्विट्जरलैंड में विश्व  स्वास्थ्य संगठन द्वारा ‘डब्ल्यूएचओ आर एंड डी ब्लूप्रिंट’ (Who R&D Blueprint) के लिए वरीयता (Priority) रोगों की सूची की समीक्षा के लिए एक अनौपचारिक बैठक का आयोजन किया गया।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • इस बैठक में वायरोलॉजी, बैक्टीरियोलॉजी एवं माइक्रोलॉजी समेत गंभीर बीमारियों के माइक्रोबायोलॉजी विशेषज्ञ, गंभीर संक्रमणों के चिकित्सा प्रबंधन विशेषज्ञ, महामारी विज्ञान विशेषज्ञ, सार्वजनिक स्वास्थ्य नीति विशेषज्ञ, मानवविज्ञानी आदि शामिल हुए।
  • साथ ही जैविक हथियारों से परिचित रक्षा या सुरक्षा विशेषज्ञ शामिल हुए।
  • वर्ष 2018 की वार्षिक समीक्षा में यह अभिनिर्धारित किया गया कि सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात का कारक बनने की क्षमता एवं प्रभावी दवा या टीके की अनुपलब्धता के कारण कुछ रोगों के लिए तत्काल त्वरित अनुसंधान एवं विकास की आवश्यकता है।
  • ये रोग हैं क्रीमियन-कांगो रक्तस्रावी बुखार (CCHF), इबोला वायरल रोग एवं मारबर्ग वायरल रोग, लासा बुखार, मध्य पूर्व श्वसन सिंड्रोम कोरोनावायरस (MERS-Cov) एवं सेवेयर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Sars), निया एवं हेनिपावायरल रोग, रिफ्ट वैले फीवर (RVf), जीका रोग और डिजीज एक्स।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • मई, 2015 में 194 देशों के अनुरोध पर विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा महामारी रोकथाम हेतु कार्रवाई के लिए अनुसंधान एवं विकास (R&D) ब्लूप्रिंट तैयार करने हेतु विशेषज्ञों के सम्मेलन का आयोजन किया गया।
  • आर एंड डी ब्लूप्रिंट का लक्ष्य सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा और जीवन रक्षक प्रभावी नैदानिक परीक्षण, टीके, एंटी वायरस एवं अन्य उपचारों की उपलब्धता के मध्य समयांतराल को कम करना है।
  • इसके तहत गतिविधियां तीन दृष्टिकोणों में आयोजित की जाती हैं जिसके द्वितीय दृष्टिकोण में त्वरित अनुसंधान एवं विकास प्रक्रियाओं पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।
  • इसमें महामारी खतरे का आकलन का कार्य और वरीयता रोगजनकों की एक परिभाषित सूची शामिल है।

लेखक-नीरज ओझा