Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

तपेदिक मुक्त भारत अभियान

May 21st, 2018
Tuberculosis free india campaign
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 13 मार्च, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विज्ञान भवन, नई दिल्ली में ‘तपेदिक मुक्त भारत अभियान’ (Tuberculosis free india campaign) का शुभारंभ किया।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • अभियान का शुभारंभ 13 मार्च, 2018 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित ‘देहली इंड टीबी समिट’ (Delhi End Tb summit) में किया गया।
  • सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।
  • इस सम्मेलन का आयोजन केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, ‘डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्रीय कार्यालय’ (WHO-Searo) और स्टॉप टीबी पार्टनरशिप द्वारा किया गया।
  • तपेदिक मुक्त भारत अभियान के माध्यम से मिशन मोड में तपेदिक उन्मूलन हेतु राष्ट्रीय रणनीतिक योजना को आगे बढ़ाया जाएगा।
  • तपेदिक उन्मूलन हेतु राष्ट्रीय रणनीतिक योजना के तहत आगामी तीन वर्षों के लिए लगभग 12000 करोड़ रुपये की धनराशि स्वीकृत की गई है।
  • इसके तहत गुणवत्तापूर्ण निदान, उपचार एवं समर्थन तक प्रत्येक तपेदिक रोगी की पहुंच सुनिश्चित की जानी है।
  • नई राष्ट्रीय रणनीतिक योजना में बहुपक्षीय दृष्टिकोण को स्वीकार किया गया है।
  • इसका उद्देश्य तपेदिक के सभी रोगियों की पहचान करना है।
  • साथ ही यह योजना निजी क्षेत्र की चिकित्सा सुविधा प्राप्त कर रहे तपेदिक रोगियों और उच्च जोखिम वाली आबादी में अनिदानित (Undiagnosed) तपेदिक तक पहुंच सुनिश्चित करने पर बल देती है।
  • प्रधानमंत्री का विजन सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) के पांच वर्ष पहले ही वर्ष 2025 में तपेदिक को समाप्त करना है।
  • सतत विकास लक्ष्यों के तहत वर्ष 2030 तक तपेदिक को समाप्त करना वैश्विक लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • उल्लेखनीय है कि वर्ष 1997 में शुभारंभ के पश्चात ‘संशोधित राष्ट्रीय तपेदिक कार्यक्रम’ (Revised National Tuberculosis Programme) के तहत 2 करोड़ से अधिक तपेदिक रोगियों का उपचार किया जा चुका है।

लेखक-नीरज ओझा